भगवान विष्णु

जाने भीमाशंकर ज्योर्तिलिंग का महत्व व इतिहास - 6th Jyotirlinga

जाने भीमाशंकर ज्योर्तिलिंग का महत्व व इतिहास भीमाशंकर 12 ज्योर्तिलिंग में से छठा ज्योर्तिलिंग है| यह ज्योर्तिलिंग महाराष्ट्र के पुणे से लगभग 110 किमी की दुरी पर सहाद्री नामक पर्वत पर स्थित है| इस पर्वत से होकर भीमा नदी है जो कृष्णा नदी में जाकर मिल जाती है| भीमाशंकर मंदिर का शिवलिंग बाकी सभी शिवलिंग की तुलना में काफी मोटा है इसलिए इसे मोटेश्वर शिवलिंग भी कहा जाता है| भीमाशंकर

जानिये भगवान शिव के स्वरूप श्री  केदारनाथ मंदिर के बारे में

केदारनाथ ज्योर्तिलिंग 12 ज्योर्तिलिंगो में से पांचवे नंबर का पवित्र ज्योर्तिलिंग है| केदारनाथ ज्योर्तिलिंग उत्तराखंड के रुद्रप्रयाग जिले में स्थित है तथा रुद्रप्रयाग हिमालय पर्वत के गढ़वाल क्षेत्र में आता है| सभी 12 ज्योर्तिलिंगो में से यह सबसे ऊँचा ज्योर्तिलिंग है| इस ज्योर्तिलिंग के मंदिर के पास में मन्दाकिनी नदी बहती है| यह तीर्थस्थल चारधाम के अंतर्गत आता है क्योंकि उत्तराखंड में गंगोत्री ,यमनोत्री ,केदारनाथ व बद्रीनाथ चारों धाम पाए