त्रैलंग स्वामी

महावतार बाबाजी - Autobiography of a Yogi नामक पुस्तक से एक चित्र, जिसे योगानन्द जी ने स्वयं की ब्बाजी से हुई एक भॆंट के स्मरण के आधार पर बनाया था।

क्या आपको लगता है जो आपको दिख रहा है वही सच है तो ऐसा नहीं है क्युकी आपको विश्वास नहीं होगा जानकार की इस धरती पर कुछ लोग बहुत पुराने काल से आध्यात्मिक जीवन जी रहे है ये बिलकुल अद्भुत अविश्वसनीय अकल्पनीय तो है ही पर एक दम सत्य और प्रमाणित है ” श्री सिद्द महावतार बाबा जी” जो की 5000 से 6000 वर्ष से  आज भी जीवित है. जिसने