बच्चों के दांतों की देखभाल या रक्षा कैसे करे?

बच्चो के दांतों में कैविटी का होना एक बहुत ही साधारण सी बात है ,जो कि बच्चों की मौखिक स्वच्छता पर ध्यान न देने के कारण होती है| अगर हम बच्चो के दांतों की सही ढ़ंग से देखभाल नही करते हैं तो उनके दांतों में कीड़े लग जाते है| और उनके दांत और मसूड़े खराब हो जाते है ,तथा दांत खोखले होकर गिर जाते हैं| लेकिन अगर हम दांतों की सही तरीके से देखभाल करे तो दांत लंबे समय तक हमारा साथ निभाते हैं|

अगर दांतों की सफाई पर ध्यान नही दिया जाये तो दांतों से सम्बंधित अनेक प्रकार के रोग जैसे – कीड़ा लगना, पायरिया या मसूड़ों से खून निकलना , मुंह से बदबू आना और दांतों का पीलापन आदि हो जाते हैं|

बच्चो के दांत खराब होने के कारण -:

  • भोजन करने के बाद अगर हम ब्रश नही करते है तो भोजन के बचे हुए कण मुंह में अनेक बैक्टीरिया इकठ्ठे कर लेते हैं| जिसके कारण दांतों में कीड़े लग जाते हैं|
  • सुबह – शाम ब्रश न करने से दांत खराब हो जाते हैं|
  • अगर बच्चों के दांतों में ब्रश ज्यादा दबाकर किया जाये तो उनके दांत की ऊपरी परत घिस सकती हैं| जिससे दांतों में ठंडा – गर्म लगने लगता हैं|
  • अच्छे टूथपेस्ट का उपयोग न करने से भी दांतों की समस्या उत्पन्न हो जाती हैं|
  • बच्चो को मीठा बहुत पसंद होता है इसलिए बच्चे इसका सेवन अधिक करते है इस कारण भी बच्चो के दांतों में कीड़े जल्दी लग जाते हैं|
  • संतुलित भोजन न करने पर भी दांत खराब हो सकते हैं|

बच्चो के दांतों की देखभाल कैसे करे -:

  • बच्चो को रोज सोने से पहले ब्रश करने की आदत डालनी चाहिए ताकि उनके दांतों में बैक्टीरिया न पनपे|
  • नियमित रूप से सुबह – शाम बच्चो को ब्रश कराना चाहिए|
  • बच्चो की जीभ को भी रोज साफ करना चाहिए|
  • ज्यादा मीठी चीजों का सेवन नही करने देना चाहिए|
  • दांतों में चिपकने वाली मीठी चोकलेट , पेस्ट्री का सेवन बहुत कम करने देना चाहिए ,अगर बच्चा इन चीजों का सेवन करता भी हैं तो हमे इसके बाद बच्चे को ब्रश करा देना चाहिए ताकि इसके कण दांतों में चिपके न रहे|
  • बच्चे को ब्रश करने का सही तरीका सीखना चाहिए|
  • नीम की दातोन से ब्रश करना काफी फायदेमंद होता हैं|
  • बच्चे जब भी ब्रश कर रहे हो तो इस बात पर जरुर ध्यान देना चाहिए कि वे दांतों पर ब्रश जोर से न रगड़े क्योकि ऐसा करने से मसूड़ो में सूजन आ सकती हैं और खून भी निकल सकता हैं| जिसके कारण दांतों और मसूड़ो से सम्बंधित रोग भी हो सकते हैं|
  • अगर बच्चो के दांतों में सडन हो भी जाये तो इसका इलाज तुरंत कराना चाहिए क्योंकि दांतों की सडन एक दांत से दुसरे दांत में बहुत जल्दी फैलती हैं|
  • बच्चो के दांतों का चेकअप साल में दो बार या फिर एक बार डेंटिस्ट से जरुर कराना चाहिए|
  • 6 साल से कम उम्र के बच्चो को फ्लोराइड वाला टूथपेस्ट न दे|

अगर हम इन सभी बातों का ध्यान रखे तो हम हमारे बच्चो के दांतों को कैविटी से बचा सकते हैं| और दांतों से सम्बंधित सभी रोगों से उनकी रक्षा कर सकते हैं| क्योंकि दांत हमारे लिए बहुत अनमोल होते हैं| इनके बिना हमारे चेहरे की सुन्दरता और हंसी अधूरी हैं| शरीर को स्वस्थ रखने के लिए दांतों का स्वस्थ होना बहुत जरुरी हैं| इसलिए अपने और अपने बच्चो के दांतों की सुरक्षा में बिल्कुल भी लापरवाही न करे| और उन्हें एक स्वस्थ भविष्य दे|

Sponsored Links

Sponsored

Subscribe Us

नयी और पुरानी जानकारियाँ अपनी ईमेल बॉक्स में पाए, अपनी ईमेल ID नीचे भरे.:

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.