जानिये पवित्र महाकालेश्वर ज्योर्तिलिंग (Mahakaleshwar Jyotirlinga) के बारे में

जानिये पवित्र महाकालेश्वर ज्योर्तिलिंग (Mahakaleshwar Jyotirlinga) के बारे में आज हम आपको भगवान शिव के तीसरे ज्योर्तिलिंग के इतिहास ,महत्त्व और उसके पीछे की पौराणिक कथा के बारे में बतायेंगे| महाकालेश्वर ज्योर्तिलिंग मध्यप्रदेश के उज्जैन शहर में क्षिप्रा नदी के किनारे स्थित है| जिसे महाकालेश्वर या महाकाल मंदिर कहते है| यह सभी 12 ज्योर्तिलिंग में से एक मात्र ऐसा ज्योर्तिलिंग है जो दक्षिणमुखी है| इस ज्योर्तिलिंग के दर्शन करने से

क्या आप जानते है? करवाचौथ पर चाँद को छलनी से क्यों देखते है - Karva Chauth 2019

करवाचौथ का त्योहार कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को मनाया जाता है। इस बार करवाचौथ 17 अक्टूबर 2019 दिन गुरूवार को पड़ रहा है| करवाचौथ के दिन शादीशुदा महिलाएं पूरे दिन निर्जला व्रत रखती है ,तथा शाम को सोलह श्रृंगार करके ,पूजा और कथा कहकर रात को चाँद को छलनी से देखकर उसे अर्ध्य देकर व्रत खोलती हैं। लेकिन आपने कभी ये जानने कि कोशिश की है कि

जानें, क्यों मनाया जाता है धनतेरस  (Dhanteras)?

जानें, क्यों मनाया जाता है धनतेरस? पुराणों के अनुसार इस दिन समुद्र मंथन के समय, अमृत का कलश लेकर धनवंतरी प्रकट हुए थे. इस कारण इस दिन को धनतेरस के रूप में मनाया जाने लगा और धनवंतरी के प्रकट होने के ठीक दो दिन बाद मां लक्ष्मी प्रकट हुईं थीं. यही कारण है कि हर बार दिवाली से दो दिन पहले ही धनतेरस मनाया जाता है. इस दिन धनवंतरी देव

जानिए हिंदू पूजा से सम्बंधित 45 जरूरी नियम

हिन्दू धर्म में मूर्ति पूजा का विधान है और 33 करोड़ देवी-देवताओं वाले इस धर्म में सभी इष्ट देवों को एक विशिष्ट स्थान प्रदान किया गया है। हिन्दू धर्म परंपरा में घर में मंदिर होना महत्वपूर्ण माना गया है। घर में स्थान के हिसाब से छोटे-बड़े मंदिर बनवाए जाते हैं और बड़ी श्रद्धा के साथ उनमें देवी-देवताओं को स्थापित किया जाता है। माना जाता है इससे नकारात्मक ऊर्जाओं का प्रवेश

भूल से भी शिवलिंग पर ना चड़ाये ये वस्तुए

हिन्दू धर्म में सभी देवी-देवताओं को प्रसन्न करने, उनकी आराधना करने के विशिष्ट तरीकों का वर्णन उपलब्ध हैं। कुछ ऐसी सामग्रियां और विधियां होती हैं जो विशिष्ट अराध्य देव को बहुत पसंद होती हैं, उनकी पूजा में उन सामग्रियों की उपलब्धता मनवांछित फल प्रदान करती है। तथा कुछ चीज़ो का निषेध भी है. जिनका प्रयोग करना उलटा परिणाम प्रदान कर सकता है। जहां कुछ चीजें आराध्य देवी-देवताओं को पसंद आती

एकलव्य की गुरुभक्ति और द्रोणाचार्य पर प्रश्न उठाकर कही हम दोनों का अपमान तो नहीं कर रहे?

आज कल आपने सोशल मीडिया या कुछ दोस्तों को इसी बात पर वाद विवाद करते देखा होगा. की गुरु द्रोणाचार्य ने एकलव्य के साथ गलत किया, जो कहानी इस प्रकार है : Ekalavya Story in Hindi : एकलव्य महाभारत का एक पात्र है। वह हिरण्य धनु नामक निषाद का पुत्र था, एकलव्य को आज महान धनुर्विद्या और महान गुरुभक्ति के रूप में देखा जाता है. पिता की मृत्यु के बाद

ये हिन्दू धर्म की महत्त्वपूर्ण जानकारी अपने बच्चो को जरूर बताये.

हिन्दू धर्म (संस्कृत: सनातन धर्म) एक धर्म (या, जीवन पद्धति) है जिसके अनुयायी अधिकांशतः भारत ,नेपाल और मॉरिशस में बहुमत में हैं। इसे विश्व का प्राचीनतम धर्म कहा जाता है। इसे ‘वैदिक सनातन वर्णाश्रम धर्म’ भी कहते हैं जिसका अर्थ है कि इसकी उत्पत्ति मानव की उत्पत्ति से भी पहले से है। ये हिन्दू धर्म की महत्त्वपूर्ण जानकारी अपने बच्चो को जरूर बताये. वेद : वेद प्राचीन भारत के पवितत्रतम

श्री मद भगवत गीता अब सऊदी अरब में अरबी भाषा में उपलव्ध है : अच्छी खबर

श्री मद भगवत गीता अब सऊदी अरब में अरबी भाषा में उपलव्ध है सऊदी अरब सरकार ने भगवत-गीता को अरबी में जारी किया है। वहां रहने वाले एक एक हिंदू प्रवासी ने कहा की ये हमारे लिए और इस दुनिया के सारे हिन्दुयो के लिए गर्व का क्षण है जो मोदी जी के मित्रता प्रयासों से मिला है। चाहे कोई भी मजहब या धर्म हो वो आपस में नफरत नहीं

जानिये बहुमूल्य (स्वास्थ एवं तंत्र-मंत्र ) गुणों वाले मदार, आक या अकौआ के पौधे के बारे

Learn about valuable Calotropis gigantea plant and its health religious benefits in Hindi हमने अकौआ के पेड़ को हर जगह देखा होगा क्योंकि ये भारत के केवल बर्फीले इलाके को छोड़कर हर जगह पाया जाता है| इसके पेड़ को लगाने की जरुरत नहीं होती है| ये अपने आप ही उग जाते है| मदार  का पेड़ हमें सड़क के किनारे ,नालियों के आसपास ,खेतों की मेड़ो पर और अपने घर के

जरुर जाने ! किस दिशा में पैर करके नहीं सोना चाहिए?

आज हम पता करेंगे की किस दिशा में सिर एवं किस दिशा में पैर करके सोना चाहिए. और इससे आपको क्या क्या लाभ होंगे. ये तथ्य वैज्ञानिक, वास्तुशास्त्र, भारतीय पुराणों से लिए गए है. The great Indian Vastu Shastra and Chinese Feng shui systems describe favorable and unfavorable geographical directions (north, south, east, west) for sleeping, everybody should must know about it. वैज्ञानिक तथ्य : पूर्व या दक्षिण दिशा की