होम इतिहास

इतिहास

भारत का इतिहास कई हजार वर्ष पुराना माना जाता है। १९वी शताब्दी के पाश्चात्य विद्वानों के प्रचलित दृष्टिकोणों के अनुसार आर्यों का एक वर्ग भारतीय उप महाद्वीप की सीमाओं पर २००० ईसा पूर्व के आसपास पहुंचा और पहले पंजाब में बस गया और यहीं ऋग्वेद की ऋचाओं की रचना की गई। आर्यों द्वारा उत्तर तथा मध्य भारत में एक विकसित सभ्यता का निर्माण किया गया, जिसे वैदिक सभ्यता भी कहते हैं। प्राचीन भारत के इतिहास में वैदिक सभ्यता सबसे प्रारंभिक सभ्यता है जिसका सम्बन्ध आर्यों के आगमन से है। इसका नामकरण आर्यों के प्रारम्भिक साहित्य वेदों के नाम पर किया गया है। आर्यों की भाषा संस्कृत थी और धर्म “वैदिक धर्म” या “सनातन धर्म” के नाम से प्रसिद्ध था, बाद में विदेशी आक्रांताओं द्वारा इस धर्म का नाम हिन्दू पड़ा।

पाषाण युग (7000-3000 ई.पू.)
-पुरापाषाण काल (Paleolithic Era)
–भीमबेटका पाषाण आश्रय (9000- 7000 ई. पूर्व)
–नवपाषाण युग (मेहरगढ़ सभ्यता) (7000-3300 ई पूर्व)
-मध्यपाषाण काल (Mesolithic Era)

प्रागैतिहासिक काल / कांस्य युग (3000-1300 ई.पू.)
-सिंधु घाटी की सभ्यता (2800-1900 ई पूर्व)
–हड़प्पा सभ्यता(3300-1700 ई.पू.)
–द्रविड़ मूल
लौह युग / कांस्य युग (1200-26 ई.पू.)
-वैदिक काल (1500-500 ई पूर्व)
— ऋग्वैदिक काल (1500- 1000 ई. पू.
–उत्तर वैदिक काल (1000 – 700 ई. पू.)
मध्य साम्राज्य / प्रारंभिक मध्यकालीन भारत (230 ई.पू.–1206 ईसवी)

देर मध्ययुगीन युग / गत मध्यकालीन भारत (1206–1526 ईसवी)

भक्तिकाल का उदय – 1350 ईसवी – 1650 ईसवी
प्रारंभिक आधुनिक काल (1526–1858 ईसवी)
औपनिवेशिक काल (1505–1961 ईसवी)
आधुनिक और स्वतन्त्र भारत (1850 ईसवी के बाद)

names of indian saints and sages, hindu sage names, rishi meaning, 7 rishis names, indian rishi muni names

जानिए प्राचीनकाल के सबसे प्रथम 11 ऋषि मुनि के नाम

0
आज हम आपको प्राचीनकाल के उन महान ऋषि-मुनियों के बारे में बताने जा रहे है जिन्होंने अपने जीवनकाल में बहुत से अद्भुत काम किए...
oldest language in the world and India

जाने विश्व की 10 सबसे प्राचीन भाषाएँ (World’s Ancient Languages)

0
विश्व की 10 सबसे प्राचीन भाषाएँ - The 10 most ancient languages ​​of the world इस दुनिया में बहुत सी भाषाएँ बोली जाती है जिनकी...
करणी माता मंदिर, चूहे वाली माता, चूहा वाला मंदिर, करणी माता जन्म, करणी माता मंदिर

करणी माता के मंदिर ( Karni Mata Temple ) में अनगिनित चूहे

0
आज हम आपको राजस्थान के बीकानेर जिले के देशनोक गांव में स्थित करणी माता के मंदिर (Karni Mata Temple) में चूहे होने के रहस्य...

Kathakali Classical Indian Dance – कथकली भारतीय शास्त्रीय नृत्य

0
वैसे तो हमारे देश में बहुत सी नृत्य शैली है| लेकिन आज हम आपको जिस नृत्य शैली के बारे में बताने जा रहे है|...

Style Hunter

You cannot copy content of this page