मुलेठी के फायदे व चमत्कारिक औषधीय प्रयोग और नुकसान - Mulethi Benefits

मुलेठी के नाम से तो आप सब परिचित ही होंगे| इसका उपयोग औषधि के रूप में किया जाता है| यह एक प्रकार की सुखी लकड़ी होती है| और इसका स्वाद मीठा होता है| मुलेठी के अन्दर बहुत सारे आयुर्वेदिक गुण होते है इसलिए इसका उपयोग औषधि के रूप में किया जाता है| मुलेठी के एक गुण के बारे में तो सभी जानते है कि ये गले की खराश को दूर

सफेद बालों से छुटकारा ये आसान घरेलू उपाय

यदि आप समय से पहले बालों के सफेद होने की समस्या से परेशान हैं तो कुछ घरेलू उपाय भी आजमा कर देख लीजिए। यकीनन आपको फायदा होगा। आइए जानते हैं, कुछ ऐसे आयुर्वेदिक उपायों (Ayurveidc Tips or Home Remedies) के बारे में जिसे इस्तेमाल करने से बाल न सिर्फ काला होता है बल्कि उनमें कुदरती चमक भी आती है। साथ ही, बालों का झड़ना-गिरना (Hair Fall) भी बंद हो जाता

औषधियों गुणों से युक्त लहसुन के फायदे – Benefits of Lahsun in Hindi

Best Proven Health Benefits of Garlic अब आप अपने भोजन में लहसुन का रोज तड़का लगाइए, क्योंकि लहसुन में कुछ ऐसी एंटी बैक्टी रियल तत्वप पाए जाते है जो हमारे शरीर को बैक्टी रियल संक्रमण होने से बचाने में मददगार साबित होते हैं। यह आपके फेफड़े को जानलेवा संक्रमण से बचा सकता है। एक नए अध्ययन में इस बात का खुलासा हुआ है। कि लहसुन कई औषधियों गुणों से भरपूर

रीठा के त्वचा और बालो के लिए चमत्कारिक गुण और आयुर्वेदिक इलाज

जानिये यहाँ रीठा के त्वचा और बालो के लिए चमत्कारिक गुण और आयुर्वेदिक इलाज know How Much Reetha (Soapberries) is Beneficial For Health and Beauty? हम सभी लोग जानते है कि रीठा का उपयोग बालों को धोने के लिए सबसे ज्यादा किया जाता है| क्योंकि रीठा बालों के लिए वरदान है| जब रीठा पानी के संपर्क में आता है तो वह साबुन के समान कार्य करता है इसलिए पुराने समय में

जरुर जाने देसी बबूल के पेड़ के फायदे और नुकसान - Vachellia nilotica (Gum arabic tree)

जरुर जाने देसी बबूल के पेड़ के फायदे और नुकसान – Know about Vachellia nilotica (Gum arabic tree) बबूल का पेड़ गांव तथा जंगलो में आसानी से देखने को मिल जाता है| बबूल का पेड़ कांटेदार होने के साथ बड़ा और घना होता है| इसके पत्ते अन्य पेड़ के पत्तों की अपेक्षा काफी छोटे और घने होते है| बबूल के पेड़ का तना मोटा ,छाल खुरदरी और भूरे या काले

जानिये बहुमूल्य (स्वास्थ एवं तंत्र-मंत्र ) गुणों वाले मदार, आक या अकौआ के पौधे के बारे

Learn about valuable Calotropis gigantea plant and its health religious benefits in Hindi हमने अकौआ के पेड़ को हर जगह देखा होगा क्योंकि ये भारत के केवल बर्फीले इलाके को छोड़कर हर जगह पाया जाता है| इसके पेड़ को लगाने की जरुरत नहीं होती है| ये अपने आप ही उग जाते है| मदार  का पेड़ हमें सड़क के किनारे ,नालियों के आसपास ,खेतों की मेड़ो पर और अपने घर के

सांप काटने पर क्या करे और क्या न करे?

In Emergency of Snake bite – Know what to do and what not to do? सांप एक ऐसा प्राणी है| जिसका नाम सुनते ही या फिर उसको देखते ही लोगों के मन में भय उत्पन्न हो जाता है| लेकिन दुनिया का कोई भी सांप आप को बिना छेड़े नहीं काटेगा और जो भी सांप काटने कि अधिकतर घटनायें होती है वो गलती से उन पर पैर पड़ जाने के कारण

ध्यान (Meditation / Yoga) क्या है, जाने मेडिटेशन करने का तरीका और लाभ

ध्यान (Meditation / Yoga) क्या है, जाने मेडिटेशन करने का तरीका और लाभ आजकल प्रत्येक व्यक्ति की अपनी अलग-अलग समस्याएं है| चाहे वह अमीर हो चाहे गरीब परेशानिया सभी के जीवन में होती ही है|  जिससे वह दिन रात जूझता रहता है ,और तनाव ग्रस्त रहता है| और यह तनाव कभी-कभी इतना बढ़ जाता है कि 24 घंटे मन में उसी का विचार आता रहता है ,और किसी भी काम

शंखपुष्पी के चमत्कारिक गुण, लाभ और नुकसान

शंखपुष्पी का आयुर्वेद में अपना एक अलग और विशेष स्थान हैं क्योंकि शंखपुष्पी शांतिदायक और बुद्धिवर्धक वनस्पति होती हैं| यह मानसिक रोगों को दूर करने , मस्तिष्क को शक्ति प्रदान करने वाली उत्तम औषधि है| ज्वर तथा अनिद्रा रोग में इसका प्रयोग बहुत लाभदायक होता है शंखपुष्पी के इन सभी गुणों के कारण आयुर्वेद में उसे एक औषधि के रूप में प्रयोग किया जाता है| शंखपुष्पी को संस्कृत में शंखपुष्पी,

अश्वगंधा चूर्ण के उपयोग, फ़ायदे और नुकसान

आज हम आपको एक इस प्रकार की जड़ीबूटी के बारे मे बताने जा रहे है जिसका स्थान भारतीय चिकित्सा आयुर्वेद मे अत्यधिक महत्त्वपूर्ण रहा है| और इस जड़ीबूटी का नाम है अश्वगंधा Withania somnifera (Ashwagandha)| अश्वगंधा का मतलब होता है – घोड़े की गंध| इसका यह नाम इसलिए पड़ा क्योकि इसकी जड़ो मे घोड़े के पसीने की गंध आती है| यह एक बहुत ही मजबूत पौधा होता है जो की