कहानियाँ

इज्जत सिर्फ पैसे की है इंसान की नहीं - कहानी

आज हम सोशल मीडिया से आपके लिए जो कहानी लेकर आये वो आपको बताएगी की कैसे लोग पैसो को इज्जत देते है इंसान को नहीं, कहानी नीचे है पुराने ज़माने की बात है। किसी गाँव में एक सेठ रहेता था। उसका नाम था नाथालाल सेठ। वो जब भी गाँव के बाज़ार से निकलता था तब लोग उसे नमस्ते या सलाम करते थे , वो उसके जवाब में मुस्कुरा कर अपना

characteristics of an honest person

Contributed By: Sheelu/ Bhind: एक मंदिर में पुजारी को दो युवक चाहिए थे मंदिर की देखभाल के लिए, उसने दोनों युवको को काम पर लगाया. दोनों ने बहुत ही अच्छी तरीके से मंदिर की देखभाल की , साफ़ सफाई की आदि आदि, एक दिन पुजारी ने सोचा ये युवक तो अच्छे है “पर क्या भरोसा आज कल के लडको का अगर किसी के मन में लालच आया और मंदिर के

धरती फट रही है - जातक कथा

बहुत समय पहले की बात है किसी जंगल में एक गधा बरगद के पेड़ के नीचे लेट कर आराम कर रहा था . लेटे-लेटे उसके मन में बुरे ख़याल आने लगे , उसने सोचा ,” यदि धरती फट गयी तो मेरा क्या होगा ?” अभी उसने ऐसा सोचा ही था कि उसे एक जोर के धमाके की आवाज़ आयी. वह भयभीत हो उठा और चीखने लगा ” भागो-भागो धरती फट