5
(1)

बता दें कि ब्रह्मांड में बहुत से उल्कापिंड, धूमकेतु और क्षुद्रग्रह तैर रहे होते हैं. ये अनियंत्रित होते हैं और किसी भी ग्रह के गुरुत्वाकर्षण के दायरे में आने पर उससे टकराकर खत्म हो जाते हैं. ऐसा कोई भी टकराव पृथ्वी पर भारी तबाही ला सकता है. 1908 में साइबेरिया के टुंगुस्का में एक क्षुद्रग्रह धरती से टकराने से पहले जलकर नष्ट हो गया था. इसकी वजह से क़रीब 100 मीटर बड़ा आग का गोला बना था.

क्या होता है एस्टेरॉयड (What is an Asteroid)

एस्टेरॉयड एक तरीके से स्पेस रॉक (Space Rocks or Asteroid) ही होते हैं। एस्टेरॉयड शून्य अंतरिक्ष में तैरती हुयी चट्टानें या बड़ी या छोटी टुकड़े के रूप में होती है , ये चट्टानें मिटटी, धुल, मेटल या किसी अन्य धातु या पदार्थ से बानी हुयी होती है। विशाल अंतरिक्ष में पृथ्वी के अलावा बहुत से गृह, मिटटी की चट्टानें, पत्थर आदि तैरते रहते है। जो हमारे अंतरिक्ष में असंख्य मात्रा में मौजूद है जिनकी उत्पत्ति किसी टकराव के कारण हुई होगी या धूल के कण इकट्ठा होने से आज एक ठोस चट्टान के रूप में बदल चुके हैं। एस्टेरॉयड पृथ्वी की तरह ही सूर्य की परिक्रमा करता है,

Asteroid Alert! 1- एस्टेरॉयड 2000 QW7 भी पृथ्वी की ओर बढ़ रहा है. जो इसी 14 सितंबर को पृथ्वी से टकरा सकता है.

अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा के मुताबिक सिडनी हार्बर ब्रिज की लंबाई के बराबर यह एस्टेरॉयड पृथ्वी की ओर तेजी से बढ़ रहा है . यह एस्टेरॉयड 23,100 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से 14 सितंबर को लगभग 5.3 मिलियन किलोमीटर की सुरक्षित दूरी से पृथ्वी के पास से गुजरेगा. लाइव साइंस के अनुसार, इसे एस्टेरॉयड का करीबी मुठभेड़ माना जाता है. 2000 QW7 पृथ्वी और चंद्रमा के बीच की दूरी से लगभग 13.87 गुना अधिक दूरी से गुजरेगा.

एस्टेरॉयड 2000 QW7, Asteroid, नासा, NASA
 

ये भयानक एस्टेरॉयड Asteroid 2000 QW7 इतना बड़ा है कि अगर ये पृथ्वी के किसी भी भाग से टकरा जाता है जिस जगह ये टकराएगा वहां से मानव जाति का नामों-निशान मिट जाएगा. आप इसी बात से अंदाजा लगा सकते हैं कि अगर ये खतरनाक स्पेस रॉक पृथ्वी से टकराता है तो भयंकर भूस्खलन और तूफान का खतरा भी धरती पर आ जाएगा. नेशनल एरोलॉटिकल एंड स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन, नासा (NASA) ने इसे पृथ्वी के लिए संभावित खतरे वाले एस्टेरॉयड (potentially hazardous asteroid) की श्रेणी में रखा है.

Asteroid Alert! 2 – Didymos 65803 दो एस्टेरॉयड से है पृथ्वी को खतरा.

हमारी पृथ्वी की तरफ एक बड़ा खतरा बढ़ रहा है. इस खतरे का नाम है Didymos 65803 जो कि एक बाइनरी एस्टेरॉयड (Binary Asteroid) है. 775 मीटर का ये एस्टेरॉयड यदि पृथ्वी पर किसी भी वजह से गिर जाता है तो धरती पर विनाश होना तय है. इस खतरे से निपटने के लिए अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी, नासा ने यूरोपियन स्पेस एजेंसी (ESA) के साथ हाथ मिलाया है ताकी पृथ्वी को इस भयानक खतरे से बचाया जा सके. बता दें कि बाइनरी एस्टेरॉयड ( वो एस्टेरॉयड होते हैं जो एक साथ दो की संख्या में होते हैं और एक समान लाइन पर वो किसी भी दिशा में चलते हैं.
आखिरी बार साल 2000 में 1 सितंबर को यह पृथ्वी के संपर्क में आया था. एक और थोड़ा छोटा एस्टेरॉयड QV89 साल 2006 में 27 सितंबर को पृथ्वी के पास से गुजरने वाला था लेकिन जुलाई महीने के बाद उसे फिर नहीं देखा गया.

space rocks warning, Space rocks nasa,
 

ऐसी किसी तबाही से बचाने के लिए दुनिया के कई वैज्ञानिक जुटे हुए हैं। वे किसी एस्टेरॉयड के धरती से टकराने का पूर्वानुमान लगाकर, उससे निपटने के उपाय तलाश रहे हैं।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 5 / 5. Vote count: 1

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

We are sorry that this post was not useful for you!

Let us improve this post!

Tell us how we can improve this post?