अगर आप एकाउंटिंग क्या होती है जानना चाहते है तो आप विस्तार से यहाँ पढ़ सकते है। – व्हाट इस अकाउंट इन हिंदी डेफिनिशन

Accounting कितने प्रकार की होती हैं?

Accounting तीन प्रकार के होते है |

  1. Personal Account (व्यक्तिगत खाता )
  2. Real Account (वास्तविक खाता )
  3. Nominal Account (नाममात्र खाता )

Accounting Defination :-

  1. Personal Account (व्यक्तिगत खाता ):-

वह खाता होता है जो किसी व्यक्ति के नाम का ,विद्यालय के नाम का, किसी संगठन के नाम का, से खोला जाता है | उसे व्यक्तिगत खाता कहते है |

Exmaple:-Rahul A /C, Subodh Traders A /C, आदि

  1. Real Account (वास्तविक खाता ):-

इस खाते के अंतर्गत केवल संपत्ति के सम्बंधित लेनदेन का ही लेखा किया जाता है और नाम के सम्बंधित credit या debit किया जाता है |

Exmaple:-Cash A /C, Furniture A /C, आदि

  1. Nominal Account (नाममात्र खाता ):-

इस खाते कहते के अंतर्गत केवल लाभ-हानि के नाम का लेखा किया जाता है |

Exmaple:-Salary A /C, Commission A /C, Light A /C, आदि

Golden Rules of Account: (गोल्डन रूल्स ऑफ एकाउंटिंग इन हिंदी) –

ट्रांजक्शन करते समय,हम डेबिट या क्रेडिट साइड का फैसला करना होता है | इसके निमंलिखित नियम है:-

  1. Personal Account (पर्सनल अकाउंट इन हिंदी):-

Debit:The Receiver or Debtor

Credit:The Giver और Creditor

  1. Real Account (रियल अकाउंट इन हिंदी):-

Debit:What comes in

Credit:What goes out

  1. Nominal Account (नॉमिनल अकाउंट इन हिंदी) :-

Debit:All Expenses & Losses

Credit:All Incomes & Gains

  • Journal Entries –

  1. राम ने नकद माल बेचा 10000

Cash A/C           Dr. 10000

To Sale A/C    Cr.            10000

  1. श्याम से माल ख़रीदा 15000

Purchase A/C      Dr.    15000

To Shyam A/C   Cr.              15000

Compound Entry क्या है?

Compound Journal Entries (मिश्रित जर्नल प्रविष्टियाँ ):-कई बार एक ही तिथि में दो या दो से अधिक ऐसे लेनदेन होते है | जो प्रायः एक ही खाते से संबंधित होते है | इनकी अलग-अलग प्रविष्टियाँ करने की बजाय एक ही प्रविष्टि कर दी जाती है | इसे मिश्रित प्रविष्टि कहा जाता है |

Exmaple:-वेतन 50000 तथा 20000 किराये के दिए |

Salary A/C        Dr. 50000

Rent A/C           Dr. 20000

To Cash A/C  Cr.            70000

Discount Entry क्या है ?

बट्टा को छूट, कटौती या अपहार भी कहते हैं। बट्टा दो प्रकार का होता है।

Trade Discount (व्यवपारी छूट ) :- वे discount होता है | जो एक व्यापार के मालिक द्वारा दी जाने वाली खरीदारी पर दी जाती है | उसे entry करते समय दिखाया नहीं जाता है |

Cash Discount (नकद छूट ) :- ग्राहकों से तुरंत अथवा एक निश्चित अवधि के अंदर नकद भुगतान प्राप्त करने के उद्देश्य से जो छूट दी जाती है उसे नकद छूट कहते हैं।

नकद छूट का लेखा पुस्तकों में अवश्य किया जाता है। छूट दिए जाने पर Discount A/c को डेबिट किया जाता है और छूट प्राप्त होने पर Discount A/c को क्रेडिट किया जाता है।

Exmaple :- Bought Goods to Ramesh 100000 @ 5% cash discount.

Purchase A/C             Dr. 100000

To Cash A/C           Cr.              95000

To Dis. Rec. A/C    Cr.               5000

Goods Purchase to Sohan 22000 @ 5% trade discount.

Purchase A/C                 Dr. 20900

To Sohan A/C            Cr.              20900

Special Transactions Relating to Goods –

(माल से सम्बंधित कुछ विशेष लेनदेन )

  1. Drawing in Goods (माल का आहरण ):-

कई बार व्यापारी आपने निजी प्रयोग के लिए व्यापार से माल निकलता है |

Exmaple:-Drawing A/C                 Dr.

To Purchase A/C  Cr.

To Cash A/C         Cr.

(Goods taken for personal use )

2. Goods Given Away as Charity (दान में दिया गया माल ) :-

इसमें दान खाते (Charity Account )को डेबिट किया जाता है क्योकि यह व्यय है | क्रय खाते को क्रेडिट किया जाता है | क्योकि माल लागत मूल्य पर व्यवसाय से बहार जा रहा है |

Exmaple :-Charity A/C             Dr.

To Purchase A/C     Cr.

(Goods Given Away as Charity )

  1. Goods Distributed as Free Sample (नमूनों के रूप में माल का मुफ़्त वितरण ):-

कई बार बिक्री बढ़ाने के लिए माल को विज्ञापन के रूप में निःशुल्क बाँटा जाता है | इसमें विज्ञापन व्यय खाते (Advertisement Expenses A/C )को डेबिट किया जाता है क्योकि यह व्यवसाय के लिए खर्चा है | क्रय खाते (Purchase A/C )को क्रेडिट किया जाता है क्योकि इसमें माल कम हो जाता है |

Exmaple:-Advertisement Expenses A/C Dr.

To Purchase A/C Cr.

(Goods Distributed as Free Sample )

  1. Loss of Goods By Theft or Loss By Fire(माल का चोरी हो जाना अथवा आग से नष्ट हो जाना ):-

Loss by theft A/C                  Dr.

Loss by fire A/C                     Dr.

To Purchase A/C                   Cr.

(Goods Lost By Theft And Goods Destroyed By Fire )

In the case of Goods were Insured:-

Insurance Company                             Dr.

To Loss by Theft or Loss by Fire    Cr.

If the full Amount of Claim is received from the Insurance Company:-

Bank A/C                                     Dr.

To Insurance Company A/C   Cr.

If The Insurance Company does not Admit Full Claim:-

Bank A/C                                    Dr.

Profit and loss A/C                          Dr.

To Insurance Company A/C        Cr.

Exmaple:-                        Loss by fire A/C                                    Dr. 100000

Purchase A/C                                       Dr.  100000

Cash  A/C                                              Dr. 60000

Proft  A/C                                            Dr. 40000

To Insurance Company A/C       Cr.100000

 

Company का नया साल कब से कब तक शुरू होता है ?

Company का नया साल 1st April से शुरू होता है और 31st March को ख़तम होता है |

Exmaple:-1st April 2019 से 31st march 2020

अगर आप एकाउंटिंग क्या होती है जानना चाहते है तो आप विस्तार से यहाँ पढ़ सकते है। – व्हाट इस अकाउंट इन हिंदी डेफिनिशन

अगर आपके पास एकाउंटिंग से जुड़ा कोई भी सवाल है तो उसे कमेंट में पोस्ट करे @शिवांगी