2018

जाने कंप्‍यूटर की संरचना (Know Computer Architecture in Hindi)

आज हम आपको इस लेख के माध्यम से computer की संरचना के बारे में बताने जा रहे है कि आखिर computer की कार्य प्रणाली क्या है| यदि आप computer की कार्य प्रणाली पर ध्यान दे तो आप देखेंगे कि computer कुछ सूचनाओं को प्राप्त करता है फिर निश्चित निर्देशों का प्रदत्त क्रम में अनुपालन करते हुए सूचना की आवश्यकतानुसार गणना व उसका विश्लेषण कर ,शुध्द एवं सत्य परिणाम को प्रस्तुत

कंप्यूटर का पीढ़ी दर पीढ़ी विकास Generation of Computer - कंप्यूटर का इतिहास

हमने आपको पिछले लेख में बताया कि computer का अविष्कार कैसे हुआ ,और किसने किया| आज हम आपको computer जनरेशन के बारे में बताने जा रहे है| computer में अलग-अलग डिवाइस लगाकर उसे दिन प्रतिदिन बेहतर बनाने की प्रक्रिया ही computer जनरेशन या पीढ़ी कहलाती है| इसे 5 भागों में बांटा गया है – 1. प्रथम पीढ़ी के computer ( 1942 – 1955 ) 2. द्वितीय पीढ़ी के computer (

क्या आप जानते है? करवाचौथ पर चाँद को छलनी से क्यों देखते है - Karva Chauth 2019

करवाचौथ का त्योहार कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को मनाया जाता है। इस बार करवाचौथ 17 अक्टूबर 2019 दिन गुरूवार को पड़ रहा है| करवाचौथ के दिन शादीशुदा महिलाएं पूरे दिन निर्जला व्रत रखती है ,तथा शाम को सोलह श्रृंगार करके ,पूजा और कथा कहकर रात को चाँद को छलनी से देखकर उसे अर्ध्य देकर व्रत खोलती हैं। लेकिन आपने कभी ये जानने कि कोशिश की है कि

कंप्यूटर का आविष्कार कब, कैसे और कहाँ किसने किया - कंप्यूटर ज्ञान

कंप्यूटर से तो आप सब परिचित ही होंगे ,क्योंकि आज के समय में बच्चे हो ,या बड़े सभी लोग इसका इस्तमाल कर रहे है| कंप्यूटर एक ऐसा इलेक्ट्रोनिक यंत्र है जो बड़ी से बड़ी गणना को कुछ ही सेकण्ड में कर सकता है| और कंप्यूटर से हम हर प्रकार की जानकारी भी प्राप्त कर सकते है| लेकिन क्या आपने कभी ये सोचा है कि आखिर कंप्यूटर आया कैसे ,इसका निर्माण

मुलेठी के फायदे व चमत्कारिक औषधीय प्रयोग और नुकसान - Mulethi Benefits

मुलेठी के नाम से तो आप सब परिचित ही होंगे| इसका उपयोग औषधि के रूप में किया जाता है| यह एक प्रकार की सुखी लकड़ी होती है| और इसका स्वाद मीठा होता है| मुलेठी के अन्दर बहुत सारे आयुर्वेदिक गुण होते है इसलिए इसका उपयोग औषधि के रूप में किया जाता है| मुलेठी के एक गुण के बारे में तो सभी जानते है कि ये गले की खराश को दूर

जानें, क्यों मनाया जाता है धनतेरस  (Dhanteras)?

जानें, क्यों मनाया जाता है धनतेरस? पुराणों के अनुसार इस दिन समुद्र मंथन के समय, अमृत का कलश लेकर धनवंतरी प्रकट हुए थे. इस कारण इस दिन को धनतेरस के रूप में मनाया जाने लगा और धनवंतरी के प्रकट होने के ठीक दो दिन बाद मां लक्ष्मी प्रकट हुईं थीं. यही कारण है कि हर बार दिवाली से दो दिन पहले ही धनतेरस मनाया जाता है. इस दिन धनवंतरी देव

जानिये देश के प्रथम टीवी चैनल दूरदर्शन (Doordarshan) के बारे में - भारत में सर्वप्रथम

आज हम आपको इस लेख के माध्यम से ये बताने जा रहे है कि आखिर भारत में दूरदर्शन का अविष्कार कैसे और कब हुआ| दूरदर्शन की शुरुआत के साथ ही टेलीविजन की शुरुआत भारत देश में होती है| दूरदर्शन भारत का सरकारी चैनल है जो कि प्रसार भारती के अंतर्गत चलाया जाता है| इसका पहला प्रसारण 15 सितंबर 1959 को दिल्ली में प्रयोगात्मक आधार पर आधे घंटे के लिए शैक्षिक

जाने ! अग्रसेन की बावली (Agrasen ki Baoli ) भूमिगत ऐतिहासिक स्मारक के बारे में

अग्रसेन की बावली (Agrasen ki Baoli ) एक ऐतिहासिक संरचना है जो कि आज भी अच्छी स्थिति में है| इसका निर्माण जल संरक्षण के लिए किया गया था ताकि जल की कमी को पूरा किया जा सके| इसे भारत सरकार द्वारा अवशेष अधिनियम 1958 के अंतर्गत संरक्षण प्रदान किया गया है| इस बावली का निर्माण 14वी शताब्दी में अग्रवाल समाज के वंशज महाराज अग्रसेन ने करवाया था इसलिए इस बावली

सफेद बालों से छुटकारा ये आसान घरेलू उपाय

यदि आप समय से पहले बालों के सफेद होने की समस्या से परेशान हैं तो कुछ घरेलू उपाय भी आजमा कर देख लीजिए। यकीनन आपको फायदा होगा। आइए जानते हैं, कुछ ऐसे आयुर्वेदिक उपायों (Ayurveidc Tips or Home Remedies) के बारे में जिसे इस्तेमाल करने से बाल न सिर्फ काला होता है बल्कि उनमें कुदरती चमक भी आती है। साथ ही, बालों का झड़ना-गिरना (Hair Fall) भी बंद हो जाता

जानिए हिंदू पूजा से सम्बंधित 45 जरूरी नियम

हिन्दू धर्म में मूर्ति पूजा का विधान है और 33 करोड़ देवी-देवताओं वाले इस धर्म में सभी इष्ट देवों को एक विशिष्ट स्थान प्रदान किया गया है। हिन्दू धर्म परंपरा में घर में मंदिर होना महत्वपूर्ण माना गया है। घर में स्थान के हिसाब से छोटे-बड़े मंदिर बनवाए जाते हैं और बड़ी श्रद्धा के साथ उनमें देवी-देवताओं को स्थापित किया जाता है। माना जाता है इससे नकारात्मक ऊर्जाओं का प्रवेश