अपने PayTM Wallet में फ्रॉड होने से कैसे बचे, क्या करे और क्या न करे? – PayTM Safety

अपने PayTM Wallet में फ्रॉड होने से कैसे बचे, क्या करे और क्या न करे? (How to avoid fraud in your PayTM Wallet, what to do and what not to do? – PayTM Safety Tips)

PayTM भारत का सबसे ज्यादा इस्तेमाल होने वाला इ-वॉलेट है. इसके द्वारवा आप शौपिंग, रिचार्ज, बिल पेमेंट, टिकेट बुकिंग, पेमेंट ट्रान्सफर इत्यादि कर सकते है. अब लोग PayTM वॉलेट को इतना इस्तेमाल करने लगे है की महीने में 10 हजार से 25 हज़ार तक आराम से ट्रांसएक्शन कर लेते है. क्युकी इससे बार बार आपको netbanking का पासवर्ड या क्रेडिट कार्ड या डेबिट कार्ड का पासवर्ड आदि इस्तेमाल नहीं करना पड़ता. लेकिन इसमें आपका क्रेडिट कार्ड / डेबिट कार्ड या नेट-बैंकिंग तो सुरक्षित हो जाती है क्युकी आप कम इस्तेमाल करते है लेकिन PayTM वॉलेट को ऑनलाइन चोरो की नज़र लग जाती है.

कैसे होता है paytm फ्रॉड?
जालसाजी के जरिये (PayTM Fraud by fishing) :
देखिये जालसाजी और fishing दोनों शव्दों के मतलब आपको पता ही होंगे. की जाल बनाकर मनुष्य या मछली को फासना.

कैसे करते है जालसाजी:
इसमें फ्रॉड करने वाले व्यक्ति के पास आपकी कुछ व्यक्तिगत जानकारियाँ होती है. जैसे क्रेडिट या एटीएम कार्ड नंबर, आपका मोबाइल नंबर, आपकी ईमेल, आपकी जन्म दिनांक या अन्य जानकारियां होती है.

वे टेक्नोलोजी का उपयोग कर अपना असली मोबाइल नंबर छुपा कर आपको पेटीएम ग्राहक सेवा नंबर 0120–3888–388 कॉलर आईडी के रूप में दिखा सकते हैं। जिससे आपको वो जल्दी विश्वास में ले सके.

इतनी सारी जानकारी होने के बाद वो फिर आपको कॉल करेंगे और कहेंगे की :

1. सर/मैडम, मैं पेटीएम से कॉल कर रहा हूँ। आपने एक विशेष ऑफर जीता है जो सिर्फ़ हमारे टॉप ग्राहकों के लिए आरक्षित है। कृपया अपना क्रेडिट/डेबिट कार्ड विवरण बताएं ताकि हम इनाम के पैसे आपके बैंक खाते में ट्रांसफर कर सकें।
2. सर/मैडम, मैं पेटीएम से बोल रहा हूँ. हमने पूरे भारत में केवाईसी पेश किया है. केवाईसी करने के बाद आप अपने पेटीएम वॉलेट में पूरे 1 लाख रूपए तक स्वीकार कर सकते हैं. हालाँकि, इसके लिए मुझे आपके पहचान का प्रमाण और आपके क्रेडिट/डेबिट कार्ड का विवरण चाहिए होगा.
विवरण चाहिए होगा.

3. सर/मैडम, हमे आपको यह बताते हुए बेहद ख़ुशी हो रही है की आपने अपनी हाल ही की खरीदारी पर जीता है पूरे 5000 रुपए का कैशबैक. कृपया हमे अपना क्रेडिट/डेबिट कार्ड नंबर बताएं, ताकि हम आपकी जीती हुई राशी आपके खाते में क्रेडिट कर सकें.

4. सर/मैडम, आप अपने क्षेत्र में ‘Top Paytm Merchant’ शीर्ष पेटीएम व्यापारी; के रूप में नामित हुए हैं और अब आप एक विशेष बूस्टर पैक का लाभ उठाने के लिए योग्य हैं. इसकी मदद से आप अपने पेटीएम वॉलेट की सीमा को अपग्रेड कर सकेंगे. इस शानदार ऑफर का लाभ उठाने के लिए कृपया आपको हमे अपने पहचान का प्रमाण और क्रेडिट/डेबिट कार्ड से सम्बंधित जानकारी देने की आव्यशाकता होगी.
5. या फिर वो आपसे किसी न किसी बहाने से जैसे ऑफर्स का बहाना, या अकाउंट बंद होने का डर दिखाना इत्यादि बहाने से OTP मांगेंगे.

और भी काफी सारे उदाहरण हो सकते है, लेकिन आपको सिर्फ एक ही बात याद रखना है की आपको कोई भी जानकारी किसी को भी नहीं देनी है चाहे कितनी भी बड़ी समस्या हो या ऑफर का जाल हो.

जालसाजी या फ्रॉड से बचने के लिए क्या न करे?
1. .इस तरह के अनचाहे कॉल, एसएमएस या ईमेल प्राप्त होने पर कभी भी गोपनीय जानकारी नहीं बताये, उससे बोले की आप 20 मिनट बाद बात करो फिर PayTM हेल्पलाइन नंबर पर बात करके उस कॉल को कन्फर्म करे और वो फ्रॉड साबित होता है तो तुरुन्त उसी कॉल पर शिकायत दर्ज करे।
2. अगर आपको संवेदनशील जानकारी साझा करने से संबंधित कोई ईमेल आता है और उसमे link पर क्लिक करके पासवर्ड बदलने या KYC अपडेट करने के लिए कहाँ जाता है तो क्लिक न करे. paytm हेल्पलाइन से संपर्क करे.

जालसाजी या फ्रॉड होने पर क्या करे?
दरअसल कई ऐसे मामले सामने आते रहते हैं, जहां आप से पेटीएम वॉलेट के जरिये पैसे मंगाए जाते हैं, या निकाल लिए जाते है आपसे OTP या पासवर्ड पूछकर, या फिर आप गलती से किसी गलत नंबर पर भेज देते हैं.
ऐसे में अगर आप कुछ जरूरी कदम उठाते हैं, तो आपका जा चुका पैसा भी वापस आ सकता है.
१. अगर आपके पेटीएम वॉलेट से किसी गलत नंबर पर पैसे ट्रांसफर हो गए हैं या फिर आपको पता चला कि आपके वॉलेट से पैसे धोखे से चुरा लिए गए हैं, तो ऐसे में आपको पेटीएम के पास तुरंत शिकायत हेल्पलाइन नंबर पर 0120–3888–388 पर कॉल करके फ्रॉड नंबर की जानकारी दें.
2. अगर आपने गलती से fishing या जालसाजी में फसकर किसी को अपने पेटीएम वॉलेट से संबंधित जानकारी दे दी है तो PayTM हेल्पलाइन नंबर पर 0120–3888–388 पर कॉल करके फ्रॉड नंबर की जानकारी दें. ।

PayTM app में से ही शिकायत कैसे करे?
पेटीएम के पास आप शिकायत अपने पेटीएम ऐप के जरिये भी कर सकते हैं. इसके लिए आपको अपने पेटीएम वॉलेट में अपनी प्रोफाइल वाले सेक्शन में जाना है. यहां आपको ‘हेल्प एंड सपोर्ट’ का विकल्प मिलता है.

इस विकल्प पर क्ल‍िक करने के बाद आपके सामने खुली विंडो में आपको कई विकल्प दिखेंगे. इन विकल्पों में से आपको ‘प्राइवेसी एंड सिक्योरिटी’ का विकल्प चुनना है.

जैसे ही आप इस पर क्ल‍िक करेंगे, तो आपके सामने खुली विंडों में पहला ही विकल्प अनधिकृत फ्रॉड को लेकर होता है. ‘Unauthorized transaction or money transfer from paytm wallet’ का विकल्प होता है. इसमें जाकर आपको अपने पूरे मामले का ब्यौरा देना होता है.

यहां श‍िकायत दर्ज करने के बाद पेटीएम जल्द से जल्द आपसे मेल के जरिये संपर्क साधेगा और मामले की तह तक जाने की कोश‍िश करेगा. आपकी श‍िकायत मिलने के बाद पेटीएम आपके पैसे रिकवर करने की कोश‍िश में जुट जाएगा.

हालांकि याद रखिये आपके वही पैसे रिकवर होंगे, जो फ्रॉड करने वाले ने अभी तक अपने पेटीएम वॉलेट में रखे हुए हैं. अगर किसी ने इन्हें खर्च कर दिया या फिर कहीं ट्रांसफर कर दिया है, तो ये मिलना आपको मुश्क‍िल हो जाएगा. इसके साथ ही आपको पेटीएम इस पैसे के रिसीवर की जानकारी देने में सक्षम होता है. ताकि आप पुलिस में शिकायत कर सके.

इसके बाद आपको पुलिस में दर्ज की गई एफआईआर और पुलिस की तरफ से एक मेल भिजवाना होता है, जिसमें पुलिस पेटीएम को निर्देश देगी कि वह रिकवर किए गए पैसों को आपको लौटा दे और फ्रॉड करने वाले की जानकारी आपके साथ साझा करे. जैसे ही यह मेल पुलिस की तरफ से पेटीएम को भेज दिया जाएगा, तो पेटीएम आपको रिकवर किए गए पैसे ट्रांसफर कर देगा.

ज्यादा जानकारी के लिए हेल्पलाइन नंबर पर 0120–3888–388 पर कॉल करके जानकारी दें या PayTM की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाए.

Sponsored

Subscribe us via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 168 other subscribers

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.