भारत की पहली 20 स्मार्ट सिटीज – Smart city India Project

जैसा की प्रधानमत्री श्री नरेंद्र मोदी ने दावा किया था की वो भारत मे स्मार्ट सिटीज़ बनाएगे, उस दावे की शुरायत आज हो गयी है. भारत सरकार ने स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के पहले चरण के लिए 48,000 करोड़ रुपए के फंड का आवंटन कर दिया गया है। इस फंड का आवंटन सबसे पहले इन्हीं शहरों को किया जाएगा। केंद्रीय एम वेंकैया नायडू ने यह घोषणा की। इसके लिए देश के 98 शहरों के बीच कॉम्पिटीशन के आधार पर इन शहरों का सिलेक्शन हुआ है। इनमें से 97 शहरों ने मंत्रालय के पास स्‍मार्ट सिटी प्रपोजल भेजे थे। इन प्रपोजल की समीक्षा करने के बाद मंत्रालय द्वारा 20 शहरों का चयन किया गया है,

Advertisements

ये 20 सिटीज, जिन्हें फर्स्ट फेज में बनाया जाएगा स्मार्ट : (Here is India’s first 20 smartcity names) :
1. भुवनेश्वर (Smart city Bhuvenshwar)
2. पुणे    (Smart city Pune)
3. जयपुर (Smart city Jaipur)
4. सूरत  (Smart city Soorat)
5. कोच्चि  (Smart city cochchi)
6. अहमदाबाद  (Smart city Ahemdabad)
7. जबलपुर   (Smart city Jabalpur)
8. विशाखापट्टनम (Smartcity Vishakhapattanam)
9. सोलापुर  (Smartcity Solapur)
10. दावणगेरे  (Smartcity Devanagari)
11. धवलगिरि (कर्नाटक)  (Smartcity Dhavalgiri)
12. नई दिल्ली,  (Smartcity New Delhi )
13 इंदौर,   (Smartcity Indore)
14. कोयम्बटूर, (Smartcity Coimbatore)
15. बेलगाम,  (Smartcity Belgum)
16. उदयपुर,  (Smart-city Udaypur)
17. गुवाहाटी,  (Smartcity Guwahati)
18. लुधियाना  (Smartcity Ludhiyana)
19. चेन्नई   (Smart-city Chennai)
20. भोपाल (Smart-city Bhopal, MP)

इन शहरों के विकास में साफ सफाई और बिजली-पानी जैसे इंफ्रास्‍टक्‍चर का खास ख्‍याल रखा जाएगा। साथ ही सॉलिड वेस्‍ट मैनेजमेंट, एफीसिएंट अर्बन मोबिलिटी व पब्लिक ट्रांसपोर्ट, आईटी कनेक्टिविटी, ई-गवर्नेंस और नागरिक भागीदारी का खास ख्‍याल रखा जाएगा। परियोजना के अगले चरण में सरकार 40 स्‍मार्ट शहरों को विकसित करने का ऐलान करेगी। केंद्र सरकार की पूरे देश में ऐसे 100 स्‍मार्ट शहर विकसित करने की योजना है। नए शहर तो अलग से बसेंगे ही, साथ ही बस्‍ती को रीडेवलप किया जाएगा। रिडेवलपमेंट से आशय शहर के एक हिस्‍से खासकर स्‍लम एरिया को तोड़कर नए सिरे से बसाना है।

स्‍मार्ट तरीके से डेवलप हो रहा अमरावती ( India’s first Smartcity “Amravati” under process) :
अमरावती देश का स्‍मार्ट शहर बनने जा रहा है। – प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से शिलान्‍यास के साथ ही इस पर काम भी शुरू हो गया है। आंध्र प्रदेश की यह नई राजधानी देश की पहली स्‍मार्ट कैपिटल सिटी भी होगी। – अमरावती को नए सिरे से बसाने के लिए 32,000 एकड़ और जमीन का अधिग्रहण किया गया है। इस तरह अमरावती को 50,000 एकड़ जमीन पर बसाया जा रहा है, लेकिन मुख्‍य शहर 217 वर्ग किलोमीटर में होगा। पूरी तरह खाली जमीन पर नए सिरे से बन रहा यह शहर वर्ष 2024 तक तैयार हो जाएगा।

क्या हैं स्मार्ट सिटी और कैसी होगी (What is smart-city plan in India) :
(जो सुविधाएं आजादी के बाद से अब तक आपको नहीं मिलीं, वे स्मार्ट सिटी में दिलाने के दावे किए गये है.)
एक बेहतर लाइफ (Quality of Life) :
स्मार्ट सिटी में रहने वाले हर शख्स को एक बेहतर लाइफ मिले। यानी किफायती घर हो, हर तरह का इन्फ्रास्ट्रक्चर हो। पानी और बिजली चौबीसों घंटे मिले। एजुकेशन, सिक्युरिटी, एंटरटेनमेंट और स्पोर्ट्स के साधन हों। और आसपास के इलाकों से अच्छी और तेज कनेक्टिविटी हो। अच्छे स्कूल और हॉस्पिटल भी मौजूद हों। 100 फीसदी घरों तक वाईफाई कनेक्टिविटी हो। हर 15 हजार लोगों पर एक डिस्पेंसरी हो। हर 50 हजार लोगों पर एक डायग्नोस्टिक सेंटर हो। रिहाइशी इलाकों से 800 मीटर की दूरी या 10 मिनट वॉक पर बस या मेट्रो की सुविधा हो।

रोजगार और इन्वेस्टमेंट (Best Employment and Investment) :
बड़ी कंपनियों को वहां अपनी इंडस्ट्री लगाने के लिए सुविधाएं और सहूलियत मिले। उन पर टैक्स का ज्यादा बोझ न हो। और स्मार्ट सिटी में इन्वेस्टमेंट ऐसा आए जिससे वहां या आसपास रहने वाले लोगों को रोजगार के पूरे मौके मिलें। सिटी में रहने वालों को अपनी आमदनी के लिए उस इलाके से ज्यादा दूर नहीं जाना पड़े।

Sponsored