जानिये मोर पंख के चमत्कारी महत्व, प्रयोग और लाभ

मोर एक बहुत ही सुन्दर पक्षी हैं और भारत में इसे राष्ट्रीय पक्षी घोषित किया गया है| इसके शिकार पर रोक लगाई गई हैं ,लेकिन इसके वाबजूद भी कोई इसका शिकार करता हैं तो उस पर क़ानूनी कारवाई की जाती हैं और दोषी होने पर सजा भी मिलती हैं| लेकिन क्या आप जानते है कि इस सुन्दर पक्षी के जो पंख होते है वे हमारे लिए कितने उपयोगी और महत्वपूर्ण होते है और इसे अपने पास या घर पर रखने से क्या-क्या लाभ हो सकते है |

Advertisements

जैसा कि हम जानते हैं कि मोर का पंख कृष्ण भगवान् अपने मुकुट में धारण किये हुए हैं ,मोर सरस्वती माता का वाहन है ,मोर कार्तिकेय का वाहन है ,इंद्र देव मोर पंख के सिंहासन पर बैठते हैं और मोर पंख की कलम से अनेक महाग्रंथो को लिखा गया है| इन सभी बातो से हमे ये तो पता चल ही जाता है कि मोर और मोर पंख कितना पवित्र होता होगा और इसके अन्दर कितनी सारी दिव्य शक्तियां होगी| आज हम आपको मोर पंख की इन्ही दिव्य शक्तियों के बारे में बतायेगे कि कैसे इस मोर पंख के द्वारा आप अपने जीवन को सुखी और खुशहाल बना सकते है| ज्योतिष शास्त्र एवं वास्तु शास्त्र में भी मोर पंख को बहुत भाग्यशाली बताया गया हैं| और इन शास्त्रों के अनुसार मोर पंख के बहुत सारे लाभ है|

मोर पंख का महत्त्व एवं उपयोग (Importance and use of peacock feathers)-:

  1. मोर पंख को घर में दक्षिण-पूर्व कोण में लगाने से धन में बढ़ोत्तरी होती हैं|
  2. मोर पंख को यदि चांदी की ताबीज में डालकर नावजात बालक को पहनाया जाये तो बालक कभी भी डरेगा नही और उसे नजर भी नही लगेगी|
  3. यदि कोई व्यक्ति मोर पंख को जेब या डायरी में रखे तो उसे राहू दोष कभी भी परेशान नही करेगा|
  4. यदि कोई व्यक्ति कालसर्प दोष से पीड़ित है तो वह सोमवार की रात्रि को आपने ताकिया की खोल में मोर पंख को रख ले ,और इसी ताकिये का रोज सोने के लिए उपयोग करे तो कालसर्प दोष का प्रभाव दूर हो जाता हैं|
  5. मोर पंख को यदि पढने वाला बालक या बालिका अपनी किताबो में रखे तो उसकी बुध्दि तेज हो जाती है क्योकि मोर को सरस्वती माता का वाहन माना जाता है और सरस्वती देवी ज्ञान की देवी होती है|
  6. मोर पंख को घर पर रखने से सुख-शांति आती है और सभी रुके हुए कार्य भी पूरे हो जाते है |
  7. मोर पंख सकारात्मक ऊर्जा को अपनी तरफ खीचता है और नकारात्मक ऊर्जा को दूर करता है|
  8. मोर पंख अनेक प्रकार के वास्तु दोषों को भी दूर करता हैं|
  9. मोर पंख अत्यन्त ही शुभ और चमत्कारी होता हैं ,ये जिस घर में रख जाता है उस घर में भुत-प्रेत जैसी बाधा कभी भी नही आती हैं और कीड़े-मकोड़े का भय भी नही होता हैं|
  10. आयुर्वेद की मान्यता तो यहा तक है कि मोर पंख से टीबी ,लकवा ,दमा और बांझपन जैसे रोगों का इलाज भी किया जा सकता हैं|
  11. अगर कोई बालक जिद्दी हैं तो मोर पंख का पंखा बनाकर उस बालक पर हवा करने से उसका जिद्दीपन धीरे-धीरे दूर हो जाता है|
  12. मोर पंख के उपयोग से पुत्र की प्राप्ति भी हो सकती है| उसके लिए मोर-पंख के मध्य का भाग-जो गहरे नीले व आसमानी रंग का होता है तथा नेत्र की आकृति-जैसा दिखता है- उसको काटकर व खरल में पीसकर रख लें। इस चूर्ण को किसी गर्भवती स्त्री को गर्भ के प्रथम व द्वितीय मास में तीन-तीन दिन खिलावें तो गर्भ से पुत्र पैदा होता है।
  13. यदि पूजा का स्थान वास्तु के विपरीत है तो पूजा के स्थान को मोर पंख से सजा दे और सभी मोर पंख को कुमकुम का तिलक लगा दे व शिवलिंग की स्थापना करे ऐसा करने से घर का दोष दूर हो जायेगा|
  14. यदि आप कुंडली के दोष से परेशान हैं तो मोर पंख पर 21 बार मन्त्र बोलकर पानी के छीटे दीजिये ,और इस पंख को किसी श्रेष्ठ स्थान पर रख दीजिये ऐसा करने से कुंडली का दोष दूर हो जायेगा|
  15. मोर पंख के द्वारा नवग्रहों को भी शांत किया जा सकता है|
  16. मोर पंख का उपयोग शत्रुनाशक के तौर पर भी किया जाता है उसके लिए किसी मंगलवार या शनिवार को मोर के पंख पर हनुमानजी की प्रतिमा के मस्तक के सिंदूर से एक मोरपंख पर शत्रु का नाम लिखें तथा घर के मंदिर में रात भर रखें। सुबह उठकर बिना नहाए-धोए तथा बिना किसी से बात किए बहते पानी में उस मोरपंख को बहा दें। ऐसा करने से बड़े से बड़ा शत्रु भी मित्र बन जाता है और आपका साथ देने लगता है।

इस प्रकार मोर पंख से कई सारे लाभ प्राप्त किये जा सकते हैं| मोर पंख से लाभ तो बहुत होते हैं लेकिन यदि इन पंखो को कोई गलत तरीके से या गलत उद्देश्य के लिए इसका उपयोग करे तो इससे हमे हानि भी हो सकती है |

जैसे -:

  • मोर पंख वशीकरण में उपयोगी होता हैं जिसके द्वारा किसी भी व्यक्ति को अपने वश में किया जा सकता है| ये विद्या ज्यादातर गलत उद्देश्य को ही पूरा करने के लिए अपनाई जाती है|
  • मोर पंख का उपयोग भुत-प्रेत को वश में करने में भी किया जाता है , बहुत से लोग इसका प्रयोग अपने मतलब और दुश्मनी को निभाने के लिए भी करते है जिससे की उस इंसान को परेशान किया जा सके|
  • कई सारे टोटको में भी मोर पंख का उपयोग किया जाता है जो कि गलत मतलब के लिए भी किये जा सकते हैं और किसी भी मनुष्य को हानि पंहुचा सकते हैं|

Sponsored

Leave a Reply