जानिए आधार कार्ड के सारे फायदे जिन्हें आप नहीं जानते अभी तक?

Know Benefits of Aadhar Card in Hindi

जानिए आधार कार्ड के सारे फायदे जिन्हें आप नहीं जानते अभी तक? (Know Benefits of Aadhar Card in Hindi) :

आधार कार्ड को सं 2009 में भारत सरकार द्वारा लॉन्च किया गया था जिसके उद्देश्य प्रत्येक भारतीय नागरिक को एक ऐसा पहचान पत्र उपलब्ध कराना था की वो यूनिवर्सल हो मतलब हर जगह प्रयोग किया जा सके.

Advertisements

1. प्रॉपर्टी ट्रांजेक्शन्सः (Property Transactions by Aadhar Card): आजकल देश में प्रॉपर्टी ट्रांजेक्शन्स पेपरलैस, कैशलेस और यहां तक कि मानव रहित भी हो गए हैं यानी आपको खुद भी जाने की जरूरत नहीं है. हाल ही में देश में महाराष्ट्र में मुंबई में प्रॉपर्टी ट्रांजेक्शन्स के लिए ww.igrmaharashtra.gov.in पर जाएं. अपना बैंक खाता, आधार और बायोमीट्रिक डिटेल्स (फिंगरप्रिंट, आईरिस रिकॉगनाइजेशन) का विवरण दीजिए. इसके साथ डिजिटल सिग्नेचर और प्रॉपर्टी के दस्तावेज जमा करें. अगर आपको किराएदार को प्रॉपर्टी ट्रांजेक्शन्स करने हैं तो उनके लिए एक समय पर उपस्थित होना जरूरी नहीं है. इसके साथ आपकी फीस का भुगतान अपने आप हो जाएगा और आपके सारे डॉक्यूमेंट आधार ऑपरेटेड डिजिटल लॉकर में सेव हो जाएंगे और आपको प्रॉपर्टी ट्रांजेक्शन्स के लिए खुद मौजूद रहना जरूरी नहीं होगा.

2. हेल्थकेयर(Healthcare products by Aadhar Card): आधार कार्ड के जरिए ना सिर्फ अस्पतालों में बल्कि कई फार्मा लैब्स और पैथोलोजी में आप मरीज की जानकारी को साझा कर सकते हैं और इसका फायदा उठा सकते हैं. आजकल ई-हॉस्पिटल सेवाएं उपलब्ध हैं जिसके जरिए ना केवल सरकारी अस्पताल में बल्कि एम्स में भी आप आधार कार्ड के जरिए. अपॉइंटमेंट बुक कर सकते हैं.

3. मंदिरों में कर्मकांड (Donation in temples by Aadhar Card) : हाल ही में दुनिया के सबसे अमीर मंदिरों में से एक तिरुपति के बालाजी मंदिर में अंगप्रदक्षिणम रस्म को करने के लिए बुकिंग के लिए आधार कार्ड को अनिवार्य कर दिया है. इसका फायदा है कि एक ही इंसान बार-बार इस रस्म को नहीं करेगा क्योंकि इसके लिए काफी ज्यादा मांग रहती है.

4. स्कॉलरशिप (Scholarship by Aadhar Card) : आजकल सभी कॉलेज के छात्रों के लिए आधार कार्ड रखना अनिवार्य कर दिया गया है. अगर कोई छात्र राज्य सरकार या यूजीसी से किसी तरह की स्कॉलरशिप हासिल करना चाहता/चाहती है तो उसे यूआईडीएआई द्वारा जारी आधार कार्ड प्रस्तुत करना जरूरी है.

5. डिजिटल लॉकर (Digital Locker) : मोदी सरकार की शुरु की गई बड़ी योजनाओं में से एक डिजिटल इंडिया के तहत डिजिलॉकर का प्रावधान है जिससे कागजी दस्तावेजों का इस्तेमाल कम से कम करने का विचार है और ई-डॉक्यूमेंट के जरिए कई एजेंसियों में इनका इस्तेमाल कर सकते हैं. लोग अपना अकाउंट बनाकर ई-डॉक्यूमेंट जमा करें, डिजिटल सिग्नेचर का प्रयोग करके इस सुविधा का फायदा उठा सकते हैं. ये डिजिटल साइन वाले डॉक्यूमेंट सरकारी एजेंसियों या अन्य संस्थाओं के द्वारा प्रयोग किए जा सकते हैं. आपको बार-बार अपने कागजी दस्तावेजों का इस्तेमाल नहीं करना पड़ेगा.

6. म्युचुअल फंड्स (Mutual Funds) : निवेश आधार कार्ड से जुड़ा ई-केवाईसी का उपयोग म्युचुअल फंड निवेश में कर सकते हैं. निवेशकों को आधार कार्ड ऑथेंटिकिशेन के लिए अपना आधार नंबर, अपना मोबाइल नंबर और वनटाइम पासवर्ड (ओटीपी) का इस्तेमाल करना होगा. इसके बाद उसे आधार की सेल्फ अटेस्ट फोटोकॉपी को अपलोड करना होगा. इसके बाद यूआईडीएआई द्वारा डाटाबेस चेक होने और वैध होने के बाद ई-केवाईसी वैध हो जाएगा और आप म्युचुअल फंड ट्रांजेक्शन्स के लिए इसका प्रयोग कर सकते हैं.

7. पेंशन स्कीम्स (Pension Schemes): ईएनपीएस निवेशकों को घर बैठे-बैठे नेशनल पेंशन स्कीम में खाता खोलने की सुविधा देता है. इसके लिए बस आपको चाहिए आधार, पैन कार्ड और इंटरनेट. केंद्र सरकार ने पहले ही सारे सरकारी पेंशनधारकों के लिए आधार कार्ड जरूरी कर दिया है और उन्हें बैंक खाते को आधार कार्ड से लिंक करने के लिए भी बढ़ावा दे रही है. अब ये सेवा एनआरआई के लिए भी शुरू कर दी गई है.

8. इनकम टैक्स रिटर्न्स (Income Tax Returns by Aadhar Card): आयकर विभाग टैक्सपेयर्स को आधार कार्ड के जरिए आयकर रिटर्न को ई-वेरिफाई करने की सुविधा देता है. इसके तहत अब आपको इनकम टैक्स रिटर्न फॉर्म भरकर सेंट्रल प्रोसेसिंग सेंटर भेजने की जरुरत नहीं पड़ती है. इसके लिए बस अपने ई-फाइलिंग खाते को आधार कार्ड के साथ जोड़ना भर है. एक बार ये कर दिया तो आपके वेरिफिकेशन के बाद पैन कार्ड के साथ आपका आधार कार्ड लिंक हो जाएगा.

9. ट्रांसपोर्ट (Use in Transport related services by Aadhar Card): आंध्र प्रदेश में व्हीकल रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट, लर्निंग लाइसेंस, पर्मानेंट ड्राइविंग लाइसेंस और वाहन का मालिकाना हक बदलने के लिए जुलाई 2015 से आधार कार्ड को अनिवार्य कर दिया गया है. वहां सभी तरह के रोड ट्रांसपोर्ट अथॉरिटी ट्रांजेक्शन्स के लिए आधार कार्ड जरूरी हो गया है. वाहनो के लिए लोन लेना या देना भी आधार कार्ड के बिना नहीं हो सकता है.

10. बीमा (Insurance policies by Aadhar Card) : जल्द ही बीमा उत्पाद डिजिटल प्लेटफॉर्म पर मौजूद होंगे और सारी ई-कॉमर्स वेबसाइट पर भी बीमा मिल पाएगा. आईआरडीए (बीमा कंपनियों का रेगुलेटर) ने साफ किया है कि ई-केवाईसी को ई-आधार के जरिए, या फिर नेशनल सिक्योरिटी डिपॉजिटरी (एनएसडीएल) के जरिए किया जा सकता है और इसके लिए ई-पैन का इस्तेमाल किया जा सकता है. आईआरडीए द्वारा दिए गए ड्राफ्ट में साफ कहा गया है कि ई-इंश्योरेंस के लिए लोगों को ई-इंश्योरेंस खाता होना रखना जरूरी होगा जिससे वो ऑनलाइन बीमा खरीद सकें.

11. सर्व शिक्षा अभियान, राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान, इंटीग्रेटेड चाइल्ड डेवलपमेंट सर्विसेज और इंटीग्रेटेड चाइल्ड प्रोटेक्शन स्कीम जिनके जरिए बच्चों को कई फायदे मिलते हैं लेकिन आगे से इनके लिए आधार कार्ड जरूरी कर दिया गया जाएगा.

12. .देश में यूआईडीएआई, मानव संसाधन मंत्रालय और महिला एवं बाल विकास मंत्रालय को कहा गया है कि जो आंगनवाड़ी और स्कूल आधार कार्ड से जुड़े हैं उन्हें वित्तीय सहायता दी जाए. इसके अलावा स्कूली बच्चों को मेडिकल चिकित्सा और सुविधाएं देने के लिए जो योजनाएं चल रही हैं वो भी आधार के जरिए लिंक करने की योजना पहले से चल रही है.

13. मोदी सरकार के आते है देश में विकास की खुशुबू सी आने लगी है.. और इतने कम समय में इतने ज्यादा काम शायद ही देश ने देखा हो, मोदी सरकार की नई पहल के जरिए बच्चों के लिए चलने वाली सारी योजनाएं जैसे मिड-डे मील, प्राइमरी हेल्थकेयर और आरंभिक शिक्षा के लिए जो भी योजनाएं चल रही हैं उनके लिए आधार कार्ड को जरूरी कर दिया जाने वाला है. इसके तहत निम्न योजनाओं के लिए आधार कार्ड का होना जरूरी होगा.

13.1 (आधार आधारित प्रत्यक्ष लाभ अंतरण (एलपीजी सब्सिडी): (Aadhaar based Direct Benefit Transfer (LPG Subsidy): 12 अंकों आधार कार्ड पर व्यक्तिगत पहचान संख्या बैंक खाते में सीधे एलपीजी सब्सिडी राशि प्राप्त करने के लिए प्रयोग किया जाता है। इस डीबीटीएल योजना पहल के रूप में नामित किया गया है। इस लाभ आप अपने क्षेत्र के वितरक जाएँ और आधार संख्या 17 अंकों रसोई गैस उपभोक्ता संख्या से जुड़े होने की आवश्यकता नहीं पाने के लिए। अब यद्यपि आप एलपीजी संख्या के बैंक खाते में जोड़ने के द्वारा प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण प्राप्त कर सकते हैं। पहल योजना के बारे में अधिक पढ़ें।

13.2 जन धन योजना (Jan Dhan Yojana): गिनीज विश्व रिकार्ड धारक योजना के प्रधानमंत्री जन धन योजना (पीएमजेडीवाई) बैंक खाता खोलने के लिए पर्याप्त केवल दस्तावेज़ के रूप में आधार कार्ड / संख्या स्वीकार करता है। आप अन्य दस्तावेजों के रूप में अच्छी तरह से उत्पादन के बाद पीएमजेडीवाई खाता खोलने यद्यपि। लाभ की पेशकश की रुपे कार्ड, नि: शुल्क शून्य शेष बचत खाते, जीवन और दुर्घटना बीमा और कई अन्य हैं। कैसे कोई वैध दस्तावेजों के साथ पीएमजेडीवाई खाता खोलने के लिए के बारे में अधिक पढ़ें।

13.3 10 दिनों में पासपोर्ट (Passport in 10 days): आधार कार्ड की यह लाभ है कि आप सबसे अधिक राहत मिल जाएगी! आप एक आधार कार्ड है, तो आप सिर्फ 10 दिन में पासपोर्ट प्राप्त कर सकते हैं। इस प्रारूप के तहत, पुलिस सत्यापन के एक बाद की तारीख में किया जाएगा, क्योंकि पुलिस सत्यापन जो समय लगता हो करने के लिए इस्तेमाल की जरूरत पड़ेगी पिछले शासन करने का विरोध किया। इसके अलावा नई सरकार के नियम के तहत, यदि आप एक पासपोर्ट की जरूरत है, आधार संख्या अनिवार्य है।

13.4 वोटर कार्ड जोड़ने (Voter Card Linking): 9 मार्च 2015 से, आधार कार्ड नंबर यूआईडीएआई मतदाता पहचान के लिए जोड़ा जाएगा। इस कार्रवाई के फर्जी मतदाताओं को खत्म करने के लिए लिया जाता है। एक बार एक आधार संख्या से जुड़ा हुआ है, यह, यह गैरकानूनी फायदा नहीं है बनाने के लिए एक कई मतदाता आईडी कार्ड धारक के लिए असंभव हो जाएगा पंजीकरण करने के लिए वोटर कार्ड धारक की आवश्यकता के रूप में शारीरिक रूप से उपस्थित हो सकता है और जोड़ने के लिए पोलिंग बूथ अधिकारी को आधार कार्ड का उत्पादन।

13.5 भविष्य निधि (Provident Fund): पेंशन के लिए इसी प्रकार, भविष्य निधि के पैसे खाता धारक जो कर्मचारी भविष्य के साथ उनके आधार नंबर पंजीकृत कर लिया है के लिए दिया जाएगा निधि संगठन (ईपीएफओ)।

13.6 नया बैंक खाता (Opening new bank account): यूआईडीएआई द्वारा प्रदान की आधार पत्र अब बैंक खाता खोलने के लिए एक वैध सबूत के रूप में बैंकों द्वारा स्वीकार्य है। वास्तव में, यह एक पते सबूत के रूप में आधार कार्ड और पते के सबूत पूरी तरह मेल खाता पर अच्छी तरह से प्रदान पते के रूप में सेवा कर सकते हैं। अर्थात कोई खाता खोलने के लिए बैंकों के लिए दस्तावेजों का गुच्छा का उत्पादन करने की जरूरत है। आधार नंबर और बैंक खाते से जोड़ने के लाभों की जाँच करें।

13.7 डिजिटल जीवन प्रमाण पत्र (Digital Life Certificate): आधार कार्ड से जुड़े डिजिटल जीवन प्रमाण पत्र एक और पहल जो इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी विभाग द्वारा शुरू किया गया था। का नाम रखा गया था “पेंशनरों के लिए जीवन प्रमाण”, इस प्रणाली की प्रक्रिया खत्म हो जाएगा जहां पेंशनभोगी था पेंशन संवितरण एजेंसी में शारीरिक रूप से उपस्थित पेंशन लाभ उठाने के लिए किया जाना है। इसके बजाय पेंशनभोगी के सभी विवरण एजेंसी द्वारा डिजिटली पहुँचा दिया जाएगा।

13.8 सेबी (SEBI): यह अब शेयर बाजार में निवेश के लिए भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड द्वारा पते के प्रमाण के रूप में स्वीकार किया जाता है। अब तक, यह पहचान के सबूत के रूप में सेबी द्वारा इस्तेमाल किया गया था।
इसलिए अब हर भारतीय के लिए आधार कार्ड जरुरी हो गया है. क्योंकि इसको हर जगह लिंक किया जा रहा है इससे देश में भ्रस्टाचार पर लगाम लगेगी, डुप्लीकेट वोटर कार्ड, ड्राइवर लाइसेंस, राशन कार्ड इत्यादि ख़त्म हो जायेगे.

Sponsored

Leave a Reply